Tuesday, 22 March 2011

"इंतज़ार..!!"


तुम्हारी थोड़ी देर से, ये जान निकल जाएगी,
तुम्हारी थोड़ी सी बेरुखी से, जिंदगी ख़त्म हो जाएगी !!

हजारों सितम सहे हैं हमने - तुम्हारे खातिर,
ग़मों को पी लिया है, ख़ुशी समझकर तुम्हारे खातिर !!

हर पल हर रात गुजर जाएगी, अगर तुम्हारे इंतज़ार में,
कुछ भी रहेगा जिंदगी में बाकी तुम्हारे इंतज़ार में !!

तुम्हें लगता है कि बहुत वक़्त है तुम्हारे पास,
मगर सालों यूँ ही बीत गए एक पल में तुम्हारे इंतज़ार में !!

अब तो लगता ही नहीं कि कभी ख़त्म होगी ये इंतज़ार,
ना रहेगा तुम्हारा ये नाज़, ना रहेगा उसका इंतज़ार !!!!
----------*----------
(H/English)
Intezaar
Tumhari thori der se, ye jaan nikal jayegi,
Tumhaari thori si berukhi se, zindagi khatm ho jayegi !!

Hazaroon sitam sahe hain humne- tumhaare khatir,
Gamon ko pi liya hai, khushi samajhkar tumhaare khatir !!

Har pal, har raat gujar jayegi, agar tumhaare intezaar me,
Kuch bhi na rahega zindagi me baaki tumhaare intezaar me !!

Tumhain lagta hai ki bahut waqt hai tumhaare pass,
Magar saalon yun hi bit gaye ek pal me tumhaare intezaar me !!

Ab to lagtahi nahi ki kabhi khatm hogi ye intezaar,
Naa rahega tumhara ye naaz, naa rahega uska intezaar !!
----------*----------

No comments:

Post a Comment